ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
विकलांग हुआ सरकारी अस्पताल पूरामुफ्ती
March 8, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

ड्यूटी से गायब रहने वाले चिकित्सक और कर्मियो को वेतन दिये जाने के मामले में सीएमओ के आचरण पर दाग लगना स्वाभाविक।

डा पूजा सिंह का इन्दिरा भवन में चल रहा अस्पताल सत्ता तक इनके हैं गहरे सम्बन्ध।

कौशाम्बी। जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो चुकी है और सरकारी अस्पतालो में वेतन लेने के बाद चिकित्सक और कर्मी निजी नर्सिंग होम संचालन कर मालामाल हो रहे है चिकित्सको के इस कृत्य से मरीजो को इलाज नही मिल पाता और इलाज न मिलने से मरीजो की मौत हो रही है

 लेकिन मरीजो को इलाज न मिलने और उनकी मौत के मामले में स्वास्थ्य महकमा के जिम्मेदार गंभीर नही है और ड्यूटी छोडकर महीनो सरकारी अस्पताल से गायब रहने वाले चिकित्सक और कर्मियो का वेतन स्वास्थ्य महकमे से बिना रोकटोक प्रत्येक महीने अवमुक्त हो रहा है जिससे मुख्य चिकित्साधिकारी के आचरण पर भी बदनुमा दाग लगना स्वाभाविक है।

 सूत्रो की माने तो क्षय रोग कार्यालय में लम्बे समय से तैनात एक स्वास्थ्य कर्मी द्वारा निजी नर्सिग होमो से वसूली कर विभाग के जिम्मेदार तक मोटी रकम पहुचायी जा रही है तो वही सीएमओ कार्यालय के ऊपरी मंजिल में बैठने वाले एक स्वास्थ्य कर्मी द्वारा सरकारी चिकित्सको से अवैध धनादोहन कर जिम्मेदारो तक मोटी रकम पहुचायी जा रही है जिससे ड्यूटी से गायब रहने वाले चिकित्सको और स्वास्थ्य कर्मियो की नकेल नही कसी जा रही है। चौपट स्वास्थ्य व्यवस्था में पूरामुफ्ती प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का उदाहरण पर्याप्त है।

 इस अस्पताल में डा पूजा सिंह डा हेना सिंह आर्युवेद के साथ साथ लैब असिस्टेन्ट सीमा सिंह सहित कई चिकित्सक और कर्मी तैनात हैं। पूजा सिंह का इलाहाबाद शहर के इन्दिरा भवन में खुद का अस्पताल चल रहा है जहॉ डा पूजा सिंह पति के साथ मरीजो का इलाज करती देखी जाती हैं

 सप्ताह में दो दिन मंगलवार और शनिवार ड्यूटी में पहुच कर एक घण्टे रहकर उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर कर फिर डा पूजा सिंह गायब हो जाती हैं। यहॉ के डाक्टरो को अतरा देकर जैसे बुखार आने लगा है और स्वास्थ्य महकमे में इनके मर्ज का इलाज नही है। इसी अस्पताल में यूएन सिंह होम्योपैथ चिकित्सक तैनात वह भी अस्पताल में मौजूद नही रहते।

 इस अस्पताल में एक दो मरीज यदि पहुचते है तो उन्हे वार्ड ब्याय बाहर की दवा लिखकर टरका देता है। पूजा सिंह जैसी चिकित्सक अपने को शासन सत्ता में बैठे लोगो तक रिश्ते बनाकर लोगो पर रौब गाठती है जिससे इनकी शिकायत होने के बाद भी इन पर कार्यवाही नही होती है चिकित्सको के इस कृत्य से योगी सरकार की छवि धूमिल हो रही है और लोगो ने योगी सरकार से चिकित्सा व्यवस्था सुधारने और बिना ड्यूटी वेतन लेने वाले चिकित्सक और कर्मियो पर कार्यवाही की मांग की है।