ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
उत्तर भारत में गर्मी का कहर, दिल्ली में दूसरे दिन पारा 47 डिग्री के पार
May 27, 2020 • ASHWANI JAISWAL • देश

  • उत्तर भारत पिछले कई दिनों से गर्मी और लू की चपेट में
  • पालम में अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री दर्ज किया गया

लॉकडाउन में जनता को घर की दहलीज तक ही रोकने का काम अब गर्मी कर रही है. इतनी भीषण गर्मी पड़ रही है कि दोपहर में सड़के सुनसान हो जाती है. उत्तर भारत में गर्मी अपने ही रिकॉर्ड तोड़ रही है. बुधवार को गर्मी का जो रौद्र रूप दिखा. उसने आने वाले दिनों की तपिश को बढ़ा दिया है.

दिल्ली लगातार पिछले कई दिनों से गर्मी और लू की चपेट में है. दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर और पश्चिम भारत के कई इलाकों में लू का असर दिख रहा है. दिल्ली में लोग चिलचिलाती गर्मी और लू के थपेड़ों का सामना कर रहे हैं और ज्यादातर स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से 6 डिग्री अधिक दर्ज किया जा रहा है.

दिल्ली में पालम इलाके में बुधवार को तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. सफदरजंग में 45.9 डिग्री, लोधी रोड में 45.1 डिग्री और आयानगर में 46.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पालम में मंगलवार को पारा 47.6 डिग्री दर्ज किया गया था.

वहीं मंगलवार को पालम केंद्र में अधिकतम तापमान 47.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि शहर के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से 6 डिग्री तक अधिक दर्ज किया गया. मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार को गर्मी से कुछ हद तक राहत मिल सकती है.

 

राजस्थान में पारा 50 डिग्री

राजस्थान के कई इलाके प्रचंड लू का सामना कर रहे हैं और चुरू जिले में पारा 50 डिग्री को छू गया. पिछले 10 साल में यह दूसरी बार है जब चुरू में मई महीने में इतना अधिक तापमान दर्ज किया गया. मौसम विभाग के मुताबिक 19 मई 2016 में चुरू में सबसे अधिक 50.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था.

दिल्ली में बढ़ी बिजली की मांग

दिल्ली में बिजली की मांग मंगलवार की रात इस मौसम में अबतक के उच्च स्तर 5,464 मेगावाट पर पहुंच गई. रिकार्ड गर्मी के साथ बिजली की मांग उच्चतम स्तर पर पहुंची है. बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

दिल्ली में भीषण गर्मी और 18 मई से ‘लॉकडाउन’ में ढील के बाद वाणिज्यिक और औद्योगिक गतिविधियां शुरू होने के साथ बिजली की अधिकतम मांग में अबतक 32 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हो चुकी है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार दिल्ली के ‘लोड डिस्पैच सेंटर’ के आंकड़ों के अनुसार शहर में मंगलवार की रात 11.20 बजे बिजली की अधिकतम मांग 5,464 मेगावाट पहुंच गई.

अधिकारियों के अनुसार, ‘यह लगातार तीसरा दिन है जब दिल्ली में बिजली की अधिकतम मांग पिछले साल के समान दिनों की तुलना में अधिक रही है.’ इससे पहले, 26 मई 2019 को बिजली की अधिकतम मांग दिल्ली में 5,236 मेगावाट दर्ज की गई थी.

5 दिन से जारी है लू का दौर

पिछले 5 दिन से राजस्थान, दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और झारखंड के इलाकों में खतरनाक और बेहद खतरनाक हीट वेव चल रही हैं. आमतौर पर इनको एक स्थानीय पवन लू का नाम दिया जाता है. पर मौसम विज्ञानी इन दिनों हीट वेव का इस्तेमाल करते हैं. पर इसकी वजह से दिन का तापमान सामान्य से काफी ऊपर दर्ज किया जा रहा है. खासकर राजस्थान के चुरू में मंगलवार को 50 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया.

भारतीय मौसम विभाग (आइएमडी) के मुताबिक, महाराष्ट्र के विदर्भ में यह अपने प्रचंड रूप में रहने वाला है. पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों समेत, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में हीट वेव अपना रौद्र रूप दिखाएगी. इसके साथ ही पंजाब, बिहार, झारखंड, ओडिशा, सौराष्ट्र और कच्छ, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, तेलंगाना और उत्तरी कर्नाटक के अंदरूनी हिस्सों में छिटफुट जगहों पर अगले 24 घंटों तक हीट वेव का असर रहेगा