ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
तीन वर्षीय पुत्री के अपहरण की सूचना देने में जीआरपी और आरपीएफ में हड़कंप
October 26, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले के थाना कोतवाली अंतर्गत मोहल्ला आजादपुरा निवासी एक महिला द्वारा उसकी तीन वर्षीय पुत्री के अपहरण की सूचना देने में जीआरपी और आरपीएफ में हड़कंप मच गया। भोपाल में ट्रेन की घेराबंदी करते हुए बालिका को बरामद कर लिया गया, लेकिन पूछताछ में अपहरणकर्ता बालिका का पिता निकला, जो पत्नी से विवाद होने पर घर से बच्ची को लेकर भोपाल चला गया था।

मोहल्ला आजादपुरा निवासी महिला आशा रैकवार रविवार की शाम को रेलवे स्टेशन पर परेशान घूम रही थी। इस पर जीआरपी के एक सिपाही ने उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि उसकी तीन वर्षीय पुत्री काव्या को उठाकर एक व्यक्ति राप्तीसागर एक्सप्रेस से लेकर चला गया है।  
बालिका की अपहरण की सूचना पर सिपाही महिला को जीआरपी थाने ले गया और कंट्रोल रूम में बालिका के अपहरण की सूचना दी। रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज व रिकॉर्डिंग में एक व्यक्ति पीली शर्ट पहने बालिका को लेकर ट्रेन में चढ़ते हुए दिखाई दे रहा था। महिला ने उसे व बालिका को पहचान लिया।
इस पर जीआरपी ने भोपाल जीआरपी से संपर्क किया और बालिका के अपहरण की बात बताई। साथ ही सीसीटीवी के आधार पर हुलिया भी बताया। कंट्रोल से सूचना मिलने पर ट्रेन में मौजूद जीआरपी, आरपीएफ और टीटीई स्टाफ अलर्ट हो गया कि कहीं कोई जंजीर पुलिंग न कर सके।
 चूंकि, ट्रेन का स्टापेज ललितपुर के बाद सीधा भोपाल ही था, जिसके चलते ट्रेन भोपाल रात को पहुंची। ट्रेन के पहुंचते ही जीआरपी और आरपीएफ ने ट्रेन को घेर लिया और उक्त व्यक्ति को बालिका के साथ उतरते ही उसे दबोच लिया और उसे थाने ले गए। 

उक्त बालिका उस व्यक्ति के पास आराम से बात कर रही थी और उसे पापा पुकार रही थी। इस पर जीआरपी को माजरा समझने में देर नहीं लगी और पूछताछ में पूरा मामला स्पष्ट हो गया। उस व्यक्ति ने जीआरपी को अपना नाम संतोष बताया और कहा कि पत्नी से विवाद होने के कारण वह अपनी बच्ची काव्या को लेकर ट्रेन से भोपाल आया था। 

बाद में दूसरी ट्रेन से महिला भी भोपाल पहुंच गई, जहां भोपाल जीआरपी ने दोनों के बीच सुलह कराई और दोनों को बालिका के साथ वापस ललितपुर भेजा।

रविवार की शाम को एक महिला द्वारा उसकी पुत्री की अपहरण की सूचना थाने में दी गई। ललितपुर स्टेशन पर उसकी सीसीटीवी फुटेज देखकर भोपाल जीआरपी को इसकी सूचना दी गई। बालिका को भोपाल में उस व्यक्ति के साथ बरामद कर किया गया है। जानकारी मिली है कि उक्त व्यक्ति उस बालिका का पिता है और पत्नी से झगड़ा होने की वजह से वह अपनी बच्ची को लेकर भोपाल चला गया था।
- अरविंद कुमार सरोज, थानाध्यक्ष जीआरपी।