ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
प्रबोधिनी फाउण्डेशन द्वारा प्रतिदिन सैकड़ों असहायो को सब्जी - राशन एवं एनर्जी जूस का नि:शुल्क वितरण
May 7, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

सब्जी मण्डियो को सुबह आठ बजे तक खोलने,दैवीय आपदा ओलावृष्टि,आंधी - तूफान से प्रभावित किसानों तथा लाकडाऊन के कारण बरबाद हुये फूल की खेती करने वाले किसानों को मुआवजा हेतु प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को भेजा पत्र।

प्रबोधिनी फाउण्डेशन द्वारा किसानों से सीधे वाजिब मूल्य पर सब्जी क्रय कर प्रतिदिन सैकड़ों असहायो को सब्जी - राशन एवं एनर्जी जूस के नि:शुल्क वितरण का अभियान 41 दिनों से अनवरत जारी 

वाराणसी। किसानों से वाजिब मूल्य पर सब्जी खरीदकर असहायो को वितरित करने का अभियान 28 मार्च से अनवरत चल रहा धर्मार्थ कार्य  41 दिनों से अनवरत जारी है।  प्रबोधिनी फाउण्डेशन के महासचिव विनय शंकर राय "मुन्ना" ने शिवाजीनगर आवास पर सैकड़ों देहाडी मजदूरों एवं असहाय बुजुर्गों को पौष्टिक सब्जी, राशन एवं एनर्जी जूस वितरित कर धर्मार्थ कार्य किया । प्रबोधिनी फाउण्डेशन की उपाध्यक्ष श्वेता राय एवं अभिषेक सिंह  ने शिवपुरवा मलीन बस्ती में एवं प्रबोधिनी भवन लहरतारा  में संस्था की संरक्षक किरन सिंह द्वारा सैकड़ों असहायो को सब्जी एवं जूस का वितरण किया गया । 
 किसानों की सब्जी मण्डियो को केवल रात को 12 बजे से तीन बजे तक खोलने की अनुमति के कारण सब्जी का मूल्य लगातार गिरने पर आक्रोश व्यक्त करते हुये प्रबोधिनी फाउण्डेशन के महासचिव विनय शंकर राय "मुन्ना" ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं के नाम पर लाकडाऊन में ढील की बात कर अन्नदाता को चोर की तरह रातों रात बाजार मुहैया कराया जा रहा है और शराब जैसी विनाशकारी वस्तु के लिये सरकार अपना खजाना भरने के लिए पुलिस संरक्षण में विशेष छूट देकर सुबह से सायं सात बजे तक बिक्री की खुली छूट देकर, सरकार के जनकल्याणकारी नीति पर प्रश्नवाचक चिन्ह लगा दिया है । एक तरफ कोरोना जैसी महामारी से देश को बचाने के लिए देश को ठप्प करके सबकुछ आखों के सामने बरबाद करके लोगों की ज़िन्दगी बचाने को प्राथमिकता की बात मोदीजी कर रहे हैं तो दूसरी तरफ उस लाकडाऊन को सफल बनाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करने वाले किसानों को उनकी उपज बेचने के बाजार को खोलने की अवधि उनके संसदीय क्षेत्र में बढ़ाने पर अभी तक कोई निर्णय नहीं होना सरकार और प्रशासन की अन्नदाता के प्रति निरंकुशता एवं संवेदनहीनता को प्रमाणित कर रही है ।
आज बनारस के सांसद एवं देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी , मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी एवं कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही जी को पत्र ईमेल के माध्यम से भेजकर बनारस के किसानों की तीन प्रमुख समस्याओ को हल कराने की मांग किया है ।
1 - सब्जी मण्डियो को सुबह आठ बजे तक खोलने की अनुमति दिया जाय, कच्ची सब्जीयो का मूल्य सरकार निर्धारित कर क्रय करे या सब्जियों को संरक्षित करने की ठोस व्यवस्था करे सरकार  ।
2-  आंधी, तूफान, ओलावृष्टि से फसल के नुकसान का मुआवजा की घोषणा प्रदेश सरकार ने किया है लेकिन धरातल पर बनारस जिला प्रशासन गम्भीरता से पहल नहीं कर रहा है। उक्त कारण हुई फसल की बर्बादी का आकलन कर मुआवजा देने की ठोस पहल किया जाय ।
3- बनारस हिन्दू धर्म की सांस्कृतिक राजधानी होने से हजारों मन्दिरों एवं हिन्दू मठों का केन्द्र होने के कारण यहां फूल की उपयोगिता बहुत ज्यादा मात्रा में होने से दसों हजार फूलों की खेती करने वाले छोटे किसानों पर लाकडाऊन के कारण भारी संकट आ गया है, लाकडाऊन के कारण सभी मन्दिरों के कपाट बन्द हैं, सभी सार्वजनिक आयोजन बन्द है जिससे फूल की कोई उपयोगिता नहीं है जिसके कारण फूल की बिक्री पूर्णतया बन्द होने से फूल की खेती करने वाले छोटे किसानों पर संकट का पहाड़ टूट पड़ा है । फूल की खेती करने वाले छोटे किसानों को जीवन यापन करने एवं किसानी पुनः करने हेतु मुआवजा की व्यवस्था नितान्त आवश्यक एवं न्यायोचित है ।
उक्त तीनों जेनविन मुद्दों का हल कराने हेतु पत्र भेजकर बनारस के सांसद एवं देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी एवं कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही से मांग किया गया है ।