ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि महिलाओं के लिए बनी‘काल‘ भाजपा की सरकार
October 23, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा प्रदेश की सुख-शांति को जंगलराज की आग में जलाना चाहती है। बेटियों के लिए तो भाजपा की सरकार ‘काल‘ बन गयी है। सड़क पर चलना तो दूर अपने घरों, कार्यालयों और सार्वजनिक स्थानों पर भी वे सुरक्षित नहीं है। मुख्यमंत्री ‘मिशन शक्ति‘ का नया राग अलाप रहे हैं, पिंक बूथ बना रहे हैं। इन टोटकों से महिलाओं को कोई राहत नहीं मिलने वाली है।

अखिलेश यादव ने शुक्रवार को बयान में कहा कि बड़े जोर-शोर के साथ प्रारंभ किया गया रोमियो स्कवायड फ्लॉप हो चुका है। विदाई की बेला में इन हथकंडों का परिणाम शून्य ही रहेगा। जब सत्ता का संरक्षण रहेगा तो इस तरह के कागजी ड्रामे से क्या हासिल होगा? उन्होंने कहा कि जौनपुर से लेकर मेरठ तक अपराधियों ने दुष्कर्म की कई घटनाओं को अंजाम दिया। महोबा के पनवाड़ी क्षेत्र में 19 वर्षीया युवती गैंगरेप का शिकार बनी। इटावा में 5 साल की बेटी के सामने मां से दुष्कर्म किया गया।
उन्होंने कहा कि जिलों में न्याय न मिलने और दबंगई पर रोक न लगने की वजह से लोग लखनऊ में विधान भवन के सामने आत्मदाह करने को मजबूर हो रहे हैं। नाकाम सरकार की नीतियों के चलते कानून व्यवस्था पर शासन-प्रशासन का नियंत्रण नहीं है। सरकार खुद अपराधियों की ढाल बन रही है। उन्होंने कहा कि जब भाजपा विधायक थाने से आरोपित को जबरन छुड़ा लेंगे और भाजपा का झंडा लगी गाड़ी में दुष्कर्म किया जाएगा तो आम लोगों की सुरक्षा कौन, कैसे करेगा ?
भाजपा के रामराज्य में दो आईपीएस फरार
सपा अध्यक्ष ने कहा, मुख्यमंत्री दावा कर रहे हैं कि उनके रहते अपराधी या तो जेल भेज दिए गए हैं या फिर राम नाम सत्य की राह पर चले जाएंगे। उनके ठोको संदेश के बाद उनका यह दूसरा अमानवीय, अलोकतांत्रिक और विधि के विपरीत निर्देश है। उनके ‘रामराज‘ का ऐसा चमत्कार है कि दो आईपीएस फरार हैं। अपराधी बेखौफ  मुख्यमंत्री की ठोको नीति को अपनाए हुए हैं। उन्हें अपहरण, लूट, हत्या की घटनाओं को अंजाम देने में कोई संकोच नहीं हैं। जब पुलिस व अपराधी मिलजुल कर काम करेंगे तो जनता की सुरक्षा का क्या होगा?

चुनौती देकर लूटा बिजलीघर:
अखिलेश यादव ने कहा, भाजपा राज में अपराधी तत्वों के हौंसले कितने बढ़े हुए हैं, यह इससे जाहिर है कि शामली में चुनौती देकर 10 दिन में दूसरा बिजलीघर लूट लिया गया। बरेली में नफरत की सियासत तले सत्ताधीशों ने थाने में घुसकर तोड़फोड़, अराजकता की। मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर में घर में घुसकर सोफा कारीगर की हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा, जनता भाजपा राज से ऊब चुकी है। उसे 2022 के आम चुनावों का इंतजार है।