ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा मिशन शक्ति अभियान का संचालन प्रदेश के 75 जिलों में प्रत्येक वॉर्ड व प्रत्येक ग्राम पंचायत
October 12, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पॉक्सो व महिलाओं से जुड़े मामलों में मजबूत पैरवी करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि फॉरेंसिक लैब से संबंधित कार्यवाही में भी शीघ्रता लाई जाए। शिथिलता, विलंब या लापरवाही की स्थिति में अभियोजन अधिकारी की जवाबदेही तय की जाए। उन्होंने मिशन शक्ति अभियान का संचालन प्रदेश के 75 जिलों में प्रत्येक वॉर्ड व प्रत्येक ग्राम पंचायत में करने को कहा है। यह अभियान कार्यालयों, संस्थानों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों आदि में भी चलाने के निर्देश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री सोमवार को लोक भवन में महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा व सम्मान के लिए चलाए जाने वाले ‘मिशन शक्ति’ अभियान की समीक्षा कर रहे थे। यह अभियान ‘मिशन शक्ति’ के रूप में चलाया जाएगा और ‘ऑपरेशन शक्ति’ के तहत प्रवर्तन की कार्रवाई पुलिस करेगी। सीएम ने कहा कि मिशन शक्ति अभियान के तहत जिला स्तर पर प्रतिदिन समीक्षा की जाए। अन्य स्तरों पर साप्ताहिक, पाक्षिक व मासिक आधार पर समीक्षा की जाए। उन्होंने मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक को मासिक समीक्षा करने के निर्देश दिए। उन्होंने ‘मिशन शक्ति’ अभियान को शारदीय नवरात्र से बासंतिक नवरात्र तक लगातार चलाने के निर्देश दिए।
सीएम योगी के समक्ष अपर पुलिस महानिदेशक, महिला व बाल सुरक्षा संगठन नीरा रावत ने ‘मिशन शक्ति’ और  पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ रेंज लक्ष्मी सिंह ने ‘ऑपरेशन शक्ति’ के संबंध में प्रस्तुतिकरण दिया। बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा, औद्योगिक विकास, कृषि एवं कृषि शिक्षा, ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज, नगर विकास, परिवहन विभाग, अभियोजन व पुलिस विभागों ने मिशन शक्ति की कार्य योजना के संबंध में जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला एवं बाल अपराध की मॉनिटरिंग के लिए जिला स्तर पर मॉनिटरिंग कमेटी की नियमित बैठकें की जाएं। पॉक्सो व महिला अपराध संबंधी वादों के निस्तारण के लिए तेजी से कार्यवाही की जाए।

प्रचार करें, सक्सेज स्टोरी छपवाएं
सीएम योगी ने कहा कि मिशन शक्ति अभियान का विभिन्न माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। अच्छे कार्यों की सक्सेज स्टोरी को मीडिया के माध्यम से जनता के सामने लाएं। सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क स्थापित की जाए, एंटी रोमियो स्क्वायड निरंतर अभियान चलाएं। सभी उपलब्ध हेल्प लाइनों, विमेन पावर लाइन ‘1090’, ‘181’, ‘102’, ‘112’ आदि का भी व्यापक प्रचार किया जाए। प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च तथा प्राविधिक शिक्षा संस्थानों में छात्र-छात्राओं को महिला सुरक्षा व सम्मान के लिए संवेदनशील व जागरूक बनाया जाए। शिक्षकों को भी प्रशिक्षण दिलाया जाए।

ये रहे मौजूद: बैठक में मुख्य सचिव आरके0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आलोक कुमार, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास एस राधा चौहान, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा मोनिका गर्ग, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद उपस्थित रहे।