ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से करी अपील, अगले 2 दिनों लिए बाहर न निकलें
June 2, 2020 • ASHWANI JAISWAL • देश

तीन जून को मुंबई के तटीय इलाकों से टकरा सकता है चक्रवात निसर्ग
अगले दो दिनों तक घर से बाहर न निकलें- उद्धव ठाकरे 
हवा की गति 100-110 किमी प्रतिघंटे होगी- मौसम विभाग
पीएम मोदी ने लिया हालात का जायजा, कहा- सावधानी बरतें लोग 
गृहमंत्री अमित शाह ने सीएम उद्धव ठाकरे से बात की 
एनडीआरएफ ने गुजरात-महाराष्ट्र में 21 टीमों को तैनात किया 
विस्तार
बुधवार यानि तीन जून को महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में चक्रवात निसर्ग दस्तक दे सकता है। मौसम विभाग ने मुंबई और आस-पास के जिलों को हाई अलर्ट पर रखा है और एनडीआरएफ की टीम ने पालघर तटीय इलाकों पर दलों को तैनात कर दिया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि गृहमंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बात की है और राज्य की तैयारियों का जायजा लिया। मौसम विभाग ने बताया कि तीन जून की शाम तक चक्रवात निसर्ग उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटीय इलाकों पर दस्तक दे सकता है। जानिए अबतक का अपडेट- 

गुजरात के नवसारी में एनडीआरएफ की टीम तैनात की गई है
गुजरात के नवसारी में निसर्ग चक्रवात को देखते हुए एनडीआरएफ की टीम तैनात की गई है। लोगों को आज दिन में निकाला भी गया है। महाराष्ट्र के अलीबाग के पास लैंडफॉल का अनुमान है। 

 

छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कल केवल 12 आगमन उड़ानों का संचालन करेगा
छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा तीन जून को केवल 12 आगमन उड़ानों का संचालन करेगा। उड़ानों का संचालन चार एयरलाइनों द्वारा किया जाएगा, जिसमें एयर एशिया इंडिया, एयर इंडिया, गोएयर और स्पाइसजेट शामिल हैं: जीवीके मुंबई अंतरराष्ट्री हवाई अड्डा

इंडिगो ने 17 उड़ानों को रद्द कर दिया है
चक्रवात निसर्ग के चलते इंडिगो ने 17 उड़ानों को रद्द कर दिया है। मुंबई से सिर्फ तीन फ्लाइट ही संचालित होंगी। 

हमें तटीय इलाकों से 21,000 लोगों को निकालना होगा-जिलाधिकारी
हमें तटीय इलाकों से 21,000 लोगों को निकालना होगा। शेल्टर में हाथ धोने, सैनिटाइजर, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग आदि की व्यवस्था की गई हैः कैलाश शिंदे, जिलाधिकारी, पालघर , माहाराष्ट्र 

चक्रवात निसर्ग को लेकर वेस्टर्न नेवल कमांड ने तैयारी शुरू की
चक्रवात निसर्ग को लेकर वेस्टर्न नेवल कमांड ने तैयारी शुरू कर दी है। बाढ़ से राहत, बचाव आदि कार्यों को लिए की पर्याप्त व्यवस्थाएं की जा रही हैं। नौसेना राज्य सरकारों से तालमेल के साथ काम करेगी। अरब सागर में सभी टीमों को अलर्ट कर दिया गया है। उन्हें किसी भी मानवीय या आपदा राहत के लिए तैयार रहने को कहा गया है।

हवा की गति 100-110 किमी प्रतिघंटे होगी
मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात निसर्ग उत्तर- उत्तरपूर्व की तरफ बढ़ेगा और उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात के तटीय इलाकों से हरिहरेश्वर और दमन और अलीबाग के नजदीक से कल दोपहर गुजरेगा। यह गंभीर चक्रवातीय तूफान होगा और इसमें हवा की गति 100-110 किमी प्रतिघंटे होगी। निसर्ग तूफान पणजी से 280 किमी पश्चिम-उत्तर पश्चिम, मुंबई से 350 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम, अलीबाग से 300 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और सूरत से 560 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम है।

अगले दो दिनों तक घर से बाहर न निकलें- उद्धव ठाकरे 
चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से अपील की है कि अगले दो दिनों तक घर से बाहर न निकलें

मुंबई में 'निसर्ग' ने दी दस्तक, बारिश शुरू
मुंबई में 'निसर्ग' ने दी दस्तक दे दी है। यहां बारिश शुरू हो गई है। चक्रवात निसर्ग बुधवार को देश के पश्चिमी तट पर पहुंचेगा। कल अलीबाग के पास चक्रवात से भूस्खलन होने की संभावना है। 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निसर्ग चक्रवात को लेकर इन मुख्यमंत्रियों से की बात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निसर्ग चक्रवात को लेकर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी, दमन दीव और दादर और नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के पटेल से बात की। पीएम मोदी ने केंद्र सरकार की तरफ से हर संभव मदद का भरोसा दिया।

भीषण चक्रवात में बदलेगा निसर्ग
भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवात निसर्ग अगले 12 घंटों में भीषण चक्रवाती तूफान में बदल सकता है और बुधवार की दोपहर को यह महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात को पार कर सकता है। मौसम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि तूफान उत्तर महाराष्ट्र को और दक्षिणी गुजरात तट को बुधवार को दोपहर में हरिहरेश्वर और दमन के बीच पार करेगा। 

मुंबई में धारा 144 लागू
वहीं, महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में पुलिस ने समुद्र के बीच और समुद्र के किनारे लोगों की आवाजाही रोकने के लिए सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी है। मुंबई पुलिस ने यह फैसला चक्रवाती तूफान निसर्ग की चेतावनी को देखते हुए लिया है। 

कल अलीबाग से टकरा सकता है चक्रवात
पुणे के मौसम विभाग के डॉक्टर अनुपम कश्यपी का कहना है कि #CycloneNisarga बुधवार को अलीबाग से टकरा सकता है। एक अनुमान के मुताबिक जमीन से टकराने के वक्त इसकी गति 100 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। इस वजह से पालघर, पुणे, ठाणे, मुंबई, रायगढ़, धुले और नंदूरबर में तेज बारिश हो सकती है।

गुजरात से 20 हजार लोगों को निकाला जाएगा
एक अधिकारी ने बताया कि चक्रवात के पहुंचने से पहले गुजरात तट के नजदीक स्थित गांवों से 20,000 लोगों को निकाला जाएगा। बता दें कि गुजरात में एनडीआरएफ की 11 टीम तैनात की गई हैं। जबकि पांच और टीमों को बुलाया जा रहा है।  

पीएम मोदी ने लिया हालात का जायजा
पीएम मोदी ने कहा- चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर हालात का जायजा लिया। हर किसी की कुशलता की कामना करता हूं। मैं लोगों से अपील करता हूं कि हर तरह की सावधानी और सुरक्षा उपाय बरतें। 

पणजी में भारी बारिश 
गोवा में निसर्ग का असर दिखना शुरू हो गया है। राजधानी पणजी में तेज हवाओं के साथ हुई भारी बारिश। 
 
 

महाराष्ट्र-गुजरात में एनडीआरएफ 21 टीम तैनात
एनडीआरएफ प्रमुख जनरल एसएन प्रसाद ने कहा- एनडीआरएफ टीमें दोनों राज्यों में तैनात है। महाराष्ट्र में 10 टीम और गुजरात में 11 टीम तैनात है। गुजरात ने पांच और टीमों की मांग की है इसलिए हम पंजाब से इन्हें बुलवा रहे हैं। आज रात तक ये टीम गुजरात पहुंच जाएगी।  

तीन जुलाई की दोपहर को तूफान पहुंचेगा महाराष्ट्र 
मौसम विभाग ने कहा- पूर्व मध्य अरब सागर में चक्रवात का गहरा वातावरण बन रहा है, यह आगे चलकर तीव्र तूफान में बदल जाएगा और तीन जुलाई की दोपहर को महाराष्ट्र को पार कर लेगा। उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। 

वापस आ रहे मछुआरे 
मुंबई : चेतावनी के मद्देनजर मछुआरे समुद्र से वापस आ रहे हैं। ये दृश्य है मुंबई के माहिम तट का। 
 


निसर्ग ले सकता है विकराल रूप
तूफान को लेकर एनडीआरएफ, नेवी समेत तमाम राहत व बचाव एजेंसियां मुस्तैद हैं। इस बीच मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 12 घंटों के दौरान निसर्ग विकराल रूप ले सकता है। मौसम विभाग ने कहा कि निसर्ग पंजिम के दक्षिण पश्चिम में 360 किमी. दूर है, मुंबई के दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में 670 किमी. दूर और सूरत के दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में 900 किमी. दूर है। 

 

ज्यादा प्रभावित होने वाले जिलों में एनडीआरएफ के 9 दल तैनात

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने जानकारी दी राज्य के सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले जिलों में नौ दल तैनात कर दिए हैं। तीन दल मुंबई में, दो पालघर, एक ठाणे, एक रायगढ़, एक रत्नागिरी और एक सिंधुदुर्ग में एनडीआरएफ ने बचाव कार्य दल तैनात कर दिए हैं। 

एनडीआरएफ महाराष्ट्र सरकार के राहत और पुर्नवास विभाग के साथ मिलकर काम कर रहा है। एनडीआरएफ इन जिलों के स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर पहले से अपनी तैयारी में जुटी है। 

एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने कहा कि निसर्ग एक भयानक चक्रवात है और 90-100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की उम्मीद है। प्रधान ने बताया कि वो अपनी टीम के साथ महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय इलाकों के आस-पास से लोगों को निकालने का काम कर रहे हैं।
 

बिजली की कटौती नहीं करने की कोशिश 

एनडीआरएफ ने बताया कि इस समय देश में कोरोना वायरस संकट भी चल रहा है, इसलिए हमारी कोशिश यही रहेगी कि इस संकट के दौर में बिजली की कटौती ना हो। मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि मछुवारों को समुद्र से वापस आने के लिए कह दिया गया है, ताकि इस चक्रवात में किसी एक की भी जान ना जाए।

बयान में बताया गया कि जो अस्पताल कोरोना वायरस मरीजों का इलाज नहीं कर रहे हैं, उन्हें चक्रवात से प्रभावित लोगों के लिए तैयार किया गया है। सोमवार को भारतीय मौसम विभाग ने चेताया था कि अरब सागर पर कम दवाब बन रहा है और यह अगले 36 घंटों में चक्रवात जैसा रूप ले सकता है।