ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
कोरोना के बाद हंता वायरस की दस्तक, चीन में एक की मौत, सोशल मीडिया पर खूब हो रहा सर्च
March 24, 2020 • ASHWANI JAISWAL • देश

कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस घातक नहीं, विशेषज्ञों का मानना यह चूहे या फिर गिलहरी के संपर्क में आने वाले इंसान को संक्रमित करता है 

नई दिल्ली ।     कोरोना वायरस के बाद हंता वायरस से मौत का मामला सामने आया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, इस नए वायरस की वजह से चीन में एक शख्स की मौत हो गई है। सोशल मीडिया पर भी लोग इस वायरस के बारे में खूब सर्च कर रहे हैं। बता दें कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण पहले से ही हड़कंप मचा हुआ है। ऐसे में खबर आ रही है कि चीन के यूनान प्रांत में एक शख्स को सोमवार को हंता वायरस से संक्रमित होने के बाद मौत हो गई। बताया जा रहा है कि पीड़ित शख्स काम करने के लिए बस शाडोंग प्रांत जा रहा था। बस में उसके साथ सवार अन्य 32 लोगों की भी जांच की गई है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबर टाइम्स के हवाले से दी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि इस घटना की जानकारी देने के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है। नए वायरस के डर से लोग इसके भी महामारी बनने से पहले रोकथाम के प्रयासों की बात कह रहे हैं। कई यूजर्स का कहना है कि यदि लोग चीन में जानवरों को खाना बंद नहीं करेंगे तो ऐसे वायरस हमेशा इंसानी जान के लिए खतरा बनते रहेंगे। कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस घातक नहीं है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह कोरोना की तरह हवा यानि सांस के जरिए नहीं फैलता है। इसके साथ ही यह चूहे या फिर गिलहरी के संपर्क में आने वाले इंसान को संक्रमित करता है। सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक चूहों के कारण हंता वायरस के संक्रमण का खतरा रहता है। अगर कोई स्वस्थ्य व्यक्ति भी हंता वायरस के संपर्क में आता है तो उसके भी संक्रमित होने का खतरा रहता है।हालांकि हंता वायरस एक शख्स से दूसरे में नहीं जाता, लेकिन यदि कोई व्यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके इस वायरस से संक्रमित होने का खतरा रहता है।इससे संक्रमित शख्स को बुखार, सिर दर्द, शरीर में दर्द, पेट में दर्द, उल्टी, डायरिया हो सकता है। इस तरह के लक्षण वाले संक्रमित शख्स के इलाज में देरी होने पर फेफड़ों में पानी भर जाता है, जिससे उसे सांस लेने में परेशानी होने लगती है।