ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
जिले में खाकी भी सुरक्षित नहीं
October 9, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

जिले में खाकी भी सुरक्षित नहीं है। दबंगों ने गुरुवार रात रायबरेली के महराजगंज कोतवाली में तैनात सिपाही की पत्नी के साथ घर में घुसकर छेड़खानी की। विरोध करने पर सिपाही की पत्नी के बाल पकड़कर उसे जमीन पर पटक दिया और सिपाही व पत्नी को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। मासूम बच्ची को भी मामूली चोटें आईं।

यही नहीं दबंगों ने 22 हजार की नकदी और सोने का कुंडल लूट लिया। वारदात की सूचना के बाद भी कोतवाल मौके पर नहीं पहुंचे। एसपी की फटकार के बाद कोतवाल ने पहुंचकर घटनाक्रम की पड़ताल की। घायल सिपाही को सीएचसी में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके दो आरोपियों को दबोच लिया है।
बुलंदशहर का रहने वाला युवक यहां महराजगंज कोतवाली में आरक्षी पद पर तैनात है। वह कस्बे के ही गांधी नगर मोहल्ले में किराए के मकान में रहता है। गुरुवार रात आरक्षी ड्यूटी पर था। उसकी पत्नी अपनी पांच साल की बेटी के साथ घर पर थी। इसी बीच दबंग किस्म के सात लोग घर के अंदर घुस गए और आरक्षी की पत्नी के साथ छेड़खानी करने लगे।
उसका दुपट्टा खींचकर बाहर फेंक दिया। घर से बाहर भागी पत्नी ने पति को फोन किया। दबंगों ने पत्नी को घर के अंदर खींच लिया और बाल पकड़कर जमीन पर पटक दिया। इसी बीच घर पहुंचे सिपाही ने विरोध किया तो दबंगों ने सिपाही और उसकी पत्नी की बुरी तरह पिटाई कर दी। पिटाई मे सिपाही गंभीर रूप से जख्मी हो गया। मासूम बच्ची को भी मामूली चोटें आईं। इसके बाद सभी हमलावर सिपाही की पत्नी का सोने का कुंडल और 22 हजार रुपये की नकदी लूटकर फरार हो गए।
कोतवाल के खिलाफ धरने पर बैठने वाले थे पुलिस कर्मी
सिपाही ने वारदात की सूचना कोतवाल श्रीराम को दी, लेकिन वो मौके पर नहीं पहुंचे। गुरुवार सुबह प्रकरण की जानकारी एसपी श्लोक कुमार को हुई तो उन्होंने कोतवाल को फटकार लगाई। एसपी की फटकार के बाद कोतवाल ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल की।

अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव ने बताया कि सिपाही की पत्नी की तहरीर पर महराजगंज कस्बे के गांधी नगर निवासी मनीष, पंकज, रामकरण, शिवा, सत्यम, विपिन और एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ छेड़खानी, मारपीट और लूटपाट करने समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है। इसमें से आरोपी शिवाकांत, विपिन को पकड़ लिया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है।

सिपाही की पत्नी के साथ छेड़खानी और फिर दंपती के साथ मारपीट की घटना ने पुलिसिंग व्यवस्था को शर्मसार कर दिया है। वारदात के बाद कोतवाल श्रीराम ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और मौके पर भी नहीं पहुंचे। कोतवाल के खिलाफ कुछ पुलिस कर्मी महराजगंज कोतवाली परिसर में धरने पर बैठने वाले थे। इस बीच कुछ वरिष्ठ पुलिस कर्मियों ने सभी को समझा-बुझाकर शांत कराया। एसपी के संज्ञान में मामला आने के बाद पुलिस ने कार्रवाई प्रक्रिया में तेजी दिखाई।
जहां भी रहे, वहां विवादित रहे कोतवाल
महराजगंज कोतवाल जहां भी तैनात रहे, वहां विवादित रहे। इसको लेकर लोगों ने विराध भी जताया। कप्तान ने भी कई बार चेतावनी दी, लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। डलमऊ में तैनाती के दौरान ट्रक चालकों से अवैध वसूली किए जाने के मामले में वह विवादित रहे। तत्कालीन पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने उन्हें कई बार फटकार लगाकर कार्रवाई की चेतावनी दी, लेकिन उनके रवैये में कभी सुुधार नहीं हुआ।

सिपाही की पत्नी के साथ छेड़खानी किए जाने और दंपती से मारपीट व लूटपाट की वारदात को गंभीरता से लिया गया है। मामले में प्राथमिकी दर्ज करा दी गई है। दो आरोपी पकड़े गए हैं। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कोतवाल को सख्त निर्देश दिए गए हैं। कोतवाल की भूमिका की भी जांच कराई जा रही है। लापरवाही पाई गई तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। लापरवाही किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं होगी। - श्लोक कुमार, एसपी