ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
जिलाधिकारी ने टीम-11 के अधिकारियों के साथ की बैठक व डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान क्वारेन्टाइन सेन्टर का किया निरीक्षण
May 8, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

जिलाधिकारी ने क्वारेन्टाइन सेन्टर में प्रवासी श्रमिकों को वितरित की जाने वाली राशन किट की गुणवत्ता की जांच एवं अधिकारियों को दिये आवश्यक दिशा निर्देश।

 प्रतापगढ़। जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं आमजनमानस को आवश्यक सुविधाये सुनिश्चित करने हेतु गठित टीम-11 के साथ बैठक की व डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान में बने क्वारेन्टाइन सेन्टर का निरीक्षण किया। बैठक में जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि आज दिनांक 08.05.2020 के सायंकाल 5 बजे सूरत (गुजरात) से तथा दिनांक 09.05.2020 को प्रातः 6 बजे लुधियाना (पंजाब) से प्रवासी श्रमिकों को लेकर जो श्रमिक स्पेशल ट्रेन प्रतापगढ़ जंक्शन पर आ रही है, ड्यूटी में लगाये गये समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी समय से पहुॅचकर श्रमिकों के आगमन से प्रस्थान तक की सारी व्यवस्था सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराये। बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि रेलवे स्टेशन पर पर्याप्त चिकित्सा टीम आवश्यक उपकरणों के साथ तैनात करे तथा यह सुनिश्चित करें कि आने वाले समस्त श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग और चिकित्सकीय परीक्षण कर लिया जाये, परीक्षण के दौरान यदि कोई श्रमिक कोविड-19 के लक्षण से परिलक्षित पाया जाता है तो उसे तत्काल जनपद के मेडिकल क्वारेन्टाइन स्थल पर भेजवाये, कोई भी कोरोना परिलक्षित लक्षण वाला व्यक्ति जनपद से प्रस्थान न करने पाये। उन्होने यह भी निर्देशित किया कि बाहर से आने वाले प्रवासी श्रमिक जिनको 21 दिन के लिये होम क्वारेन्टाइन किया जाना है उन्हें एक पम्पलेट छपवाकर उपलब्ध करा दिया जाये और पम्पलेट में इस बात का वर्णन किया जाये कि 21 दिन होम क्वारेन्टाइन अवधि में उन्हें क्या करना है और क्या नही करना है और जनपद के स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन के कन्ट्रोल रूम का नम्बर उसमें अनिवार्य रूप से अंकित करा दिया जाये जिससे उन्हें किसी भी प्रकार की समस्या होने पर वह कन्ट्रोल रूम पर फोन के माध्यम से अपनी समस्या को बता सके जिससे उनकी समस्या का निराकरण हो सके। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अमित पाल शर्मा, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी श्रीराम यादव, उपजिलाधिकारी सदर मोहन लाल गुप्ता, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।
  जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार एवं शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी श्याम सुन्दर शर्मा (सचिव मानवाधिकार आयोग) द्वारा डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान भुपियामऊ में बने फैसेलिटी क्वारेन्टाइन सेन्टर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने प्रवासी श्रमिकों को दी जाने वाली राशन किट की गुणवत्ता की जांच की, जांच के दौरान जिलाधिकारी ने राशन किट की बोरी में रखी गयी सामग्रियों आलू, चावल, मसाला, दाल आदि की मात्रा को देखा और सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि राशन किट में रखी जाने वाली सामग्री गुणवत्तापूर्ण होनी चाहिये इसका विशेष ध्यान रखा जाये। जिलाधिकारी ने तहसीलवार वितरण हेतु बनाये गये राशन किट रजिस्टर का अवलोकन किया तो वितरण रजिस्टर में यह तथ्य प्रकाश में आया कि कई प्रवासी श्रमिक ने राशन किट नही लिया है जिस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुये ड्यिटी में लगाये गये अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि राशन किट लेने से इन्कार करने वाले प्रवासी श्रमिकों से न लेने का स्पष्ट कारण रजिस्टर में अवश्य अंकित किया जाये और सामने उनके हस्ताक्षर अनिवार्य रूप से कराये जाये। राशन किट वितरण में किसी भी स्तर पर शिथिलता व लापरवाही कदापि क्षम्य नही होगी। संस्थान में सभी पॉचों तहसीलों के टीमें लगी हुई है जो अपने-अपने तहसीलों से सम्बन्धित मजदूरों के डाटा रजिस्टर पर दर्ज कर स्वास्थ्य टीम से उनका परीक्षण करा रही है। जिलाधिकारी द्वारा वहां पर उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित किया कि वहां पर आने वाले सभी मजदूरों के डाटा शासन द्वारा निर्धारित प्रारूप पर अंकित करें जिलाधिकारी द्वारा क्वारेन्टाइन सेन्टर में रखे गये विजिट रजिस्टर का भी अवलोकन किया तथा डाक्टरों से जिलाधिकारी ने मजदूरों के स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जानकारी ली। डा0 जयमंगल सिंह प्रशिक्षण संस्थान के नोडल अधिकारी सीओ चकबन्दी द्वारा बताया गया कि अब तक इस क्वारेन्टाइन सेन्टर पर 425 प्रवासी श्रमिक आये जिनकी थर्मल स्क्रीनिंग कर उन्हें 21 दिन होम क्वारेन्टाइन हेतु भेज दिया गया है। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, उपजिलाधिकारी सदर मोहन लाल गुप्ता, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।