ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
जिलाधिकारी ने टीम-11 के अधिकारियों के साथ की बैठक व डा० जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान क्वारेन्टाइन सेन्टर का किया निरीक्षण
May 5, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश


प्रतापगढ़। जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं आमजनमानस को आवश्यक सुविधाये सुनिश्चित करने हेतु गठित टीम-11 के साथ बैठक की व डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान में बने क्वारेन्टाइन सेन्टर का निरीक्षण किया।

टीम-11 की बैठक में जिलाधिकारी ने प्रवासी मजदूरों के आगमन पर स्क्रीनिंग टेस्ट कराये जाने तथा उन्हें 15 दिवस का राशन किट देने एवं 21 दिवस के लिये होम क्वारेन्टाइन कराये जाने के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान में डाक्टरों की टीम लगायी गयी है जो वहां आने वाले सभी प्रवासी मजदूरों का थर्मल एनालाइजर से स्क्रीनिंग कर रही है अब तक वहां आये हुये 207 मजदूरों का परीक्षण किया गया तथा किसी भी कोरोना वायरस के संक्रमण का लक्षण नही पाया गया। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि होम क्वारेन्टाइन कराये गये लोगों का आशा और ए0एन0एम0 के माध्यम से सतत पर्यवेक्षण किया जा रहा है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि निगरानी समितियों को सक्रिय कर उनके माध्यम से होम क्वारेन्टाइन किये गये लोगों पर नजर रखी जाये तथा शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन कराया जाये।  मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि 100 बेड का कोविड-19 सम्बद्ध अस्पताल बनाये जाने के निर्देश प्राप्त हुये है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि ए0आर0टी0ओ0 का नवनिर्मित कार्यालय भवन को एल-1 हास्पिटल के रूप में तैयार किया जाये। पूरे परिसर को सेनेटाइज कराये तथा आवश्यक डाक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ एवं अन्य तैयारियॉ सुनिश्चित कर ली जाये इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी। जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) को निर्देश दिया कि जनपद प्रतापगढ़ के प्रवासी मजदूर आ रहे है उन्हें 15 दिवस के लिये तैयार राशन की किट भी दी जाये। श्रम प्रर्वतन अधिकारी को निर्देश दिया गया कि जो मजदूर आ रहे है उनके सम्बन्ध में पूरी जानकारी टीम बनाकर दर्ज की जाये जिसमें उनके कुशल, अकुशल श्रमिक होने का कॉलम भी भरा जाये। जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा बताया गया कि अब तक 60 प्रतिशत कार्डधारकों को राशन का वितरण किया जा चुका है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि राशन वितरण के समय सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन कराया जाये तथा वितरण के समय कोटेदार साबुन और पानी की व्यवस्था भी रखे ताकि कार्डधारक हाथ धुल सके। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अमित पाल शर्मा, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी श्रीराम यादव, उपजिलाधिकारी सदर मोहन लाल गुप्ता, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।
  जिलाधिकारी द्वारा डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक शिक्षण संस्थान भुपियामऊ में बने फैसेलिटी क्वारेन्टाइन सेन्टर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने प्रवासी श्रमिकों से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली तथा राशन किट वितरण के कक्ष का निरीक्षण किया। संस्थान में सभी पॉचों तहसीलों के टीमें लगी हुई है जो अपने-अपने तहसीलों से सम्बन्धित मजदूरों के डाटा रजिस्टर पर दर्ज कर स्वास्थ्य टीम से उनका परीक्षण करा रही है। जिलाधिकारी द्वारा वहां पर उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित किया कि वहां पर आने वाले सभी मजदूरों के डाटा शासन द्वारा निर्धारित प्रारूप पर अंकित करें तथा उन्हें राशन किट वितरण करते समय उनके हस्ताक्षर रजिस्टर पर अवश्य अंकित कराये। जिलाधिकारी द्वारा क्वारेन्टाइन सेन्टर में रखे गये विजिट रजिस्टर का भी अवलोकन किया तथा डाक्टरों से जिलाधिकारी ने मजदूरों के स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जानकारी ली। डाक्टरों द्वारा बताया गया कि अभी तक इस सेन्टर पर आये हुये मजदूरों में कोरोना वायरस के संक्रमण का कोई भी लक्षण नही पाया गया और सभी स्क्रीनिंग टेस्ट कर लिया गया है। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार भी उपस्थित रहे।