ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने रमजान के सम्बन्ध में धर्मगुरूओं के साथ की बैठक
April 22, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

रमजान के दौरान हाट-स्पाट एरिया में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति होम डिलीवरी के माध्यम से ही करायी जायेगी-जिलाधिकारी

प्रतापगढ़।  जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार एवं पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने आज सई काम्प्लेक्स के सभागार में रमजान के सम्बन्ध में धर्मगुरूओं के साथ बैठक की। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अमित पाल शर्मा, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र प्रसाद द्विवेदी, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार एवं जमीयते-उलेमा-ए-हिन्द के मौलाना शब्बीर अहमद, मुफ्ती जमीरूल रहमान हासमी, मो0 फारूक और जमीरूद्दीन सम्मिलित है। बैठक में जिलाधिकारी ने धर्मगुरूओं से कहा कि प्रशासन सभी धर्मो के प्रति निष्पक्ष रहकर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये प्रभावी कार्यवाही कर रहा है। रमजान में भी कोरोना के प्रति जागरूक रहकर सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करते हुये  धार्मिक गतिविधियां संचालित की जाये, थोड़ी सी भी लापरवाही खतरनाक सिद्ध हो सकती है। उन्होने कहा कि धर्मगुरूओं को प्रशासन के कार्यो में सहयोग करना चाहिये तथा जनता को कोरोना महामारी के विषय में बताना चाहिये। बैठक में मौलाना शब्बीर अहमद द्वारा अनुरोध किया गया कि पुलिस और प्रशासन के एक-एक नोडल अधिकारी बना दिया जाये जिससे हम लोग अपनी समस्या बता सके जिस पर जिलाधिकारी ने प्रशासन की तरह से नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) एवं पुलिस विभाग की तरफ से नोडल अधिकारी अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र प्रसाद द्विवेदी को नामित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि यदि धर्मगुरूओं को कोई समस्या है तो इस कार्य हेतु प्रशासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) व पुलिस विभाग से नामित नोडल अधिकारी अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र प्रसाद द्विवेदी से सम्पर्क कर सकते है। जिलाधिकारी ने बताया कि रमजान के दौरान हाटस्पाट एरिया में दुकानें नही खुलेगें, हाटस्पाट एरिया में रहने वाले सभी निवासियों को डोर-टू-डोर डिलीवरी के माध्यम से सभी आवश्यक चीजे दूध, सब्जी, फल आदि उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होने धर्मगुरूओं से यह भी कहा कि यदि रमजान के दौरान कोई अन्य आवश्यक वस्तु चाहिये तो उससे प्रशासन वं पुलिस को अवगत करा दें।
  बैठक में पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने धर्मगुरूओं से कहा कि आप लोग सोशल मीडिया की अफवाहों पर ध्यान न दे तथा जनता के बीच प्रशासन द्वारा की जा रही कार्यवाही को सही परिप्रेक्ष्य में प्रस्तुत करें तथा लाकडाउन का कड़ाई से पालन करें क्योंकि बीमारी किसी धर्म या जाति को देखकर नही आती है। पुलिस अधीक्षक ने मौलाना शब्बीर से अनुरोध किया कि थानावार अपने जमात के लोगों की सूची उपलब्ध करा दें ताकि थानावार की जा रही धर्मगुरूओं की बैठक में उन्हें सूचित किया जा सके।
इस दौरान जमीयते-उलेमा-ए-हिन्द के मुफ्ती जमीरूल रहमान हासमी द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा इस बात की जनता से अपील की गयी है कि नमाज, तराबी एवं इफ्तार के कार्यक्रम में सोशल डिस्टेसिंग का पूरी तरह पालन करें, रमजान के दिनों में भी तराबी की नमाज अपने-अपने घरों में पढ़े तथा इफ्तारी के लिये एक व्यक्ति ही खरीददारी के लिये निकले एवं इफ्तार पार्टी न की जाये। हासमी द्वारा यह भी बताया गया कि रमजान के पवित्र महीने में आस-पास के गरीब, निराश्रित लोगों को दान देकर मदद की जाये। हासमी ने बताया कि हम लोग प्रशासन के साथ पूरी तरह सहयोग करेंगें तथा जहां भी हमारी आवश्यकता हो जनता के बीच चलकर कोरोना के प्रति फैल रही गलत फहमी को दूर करेगें तथा मस्जिद में सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुये 3 लोग ही नमाज पढ़ेगें तथा बाकी सभी लोग नमाज अपने घरों में पढ़ेगें। मौलाना शब्बीर द्वारा अवगत कराया गया कि जमीयते-उलेमा-ए-हिन्द हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी जमात है जो हिन्दु-मुस्लिम एकता बनाये रखने एवं राष्ट्र निर्माण के प्रति हमेशा समर्पित रहती है। हम लोग अपने स्तर से कोरोना महामारी के प्रति लोगों को जागरूक करते हुये उन्हें अपने घरों में रहने और कोई भी धार्मिक एवं सामाजिक कार्यक्रम न करने की अपील कर रहे है।
जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने इस दौरान हॉटस्पाट एरिया के बेगम वार्ड, जामा मजिस्द, चौक सहित अन्य स्थलों का संयुक्त रूप से निरीक्षण भी किया तथा वहां पर लगे हुये पुलिस कर्मियों को निर्देश दिया कि हाटस्पाट एरिया में पुलिस, प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को छोड़कर अन्य बाहरी व्यक्ति को कदापि आवागमन की अनुमति न दी जाये।