ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
दिल्ली से मेरठ तक मात्र एक घंटे से भी कम समय में सफर का दावा
September 25, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

दिल्ली से मेरठ तक मात्र एक घंटे से भी कम समय में सफर का दावा करने वाला राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम अपने कार्य में आगे बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को रैपिड रेल के वास्तविक लुक का अनावरण किया गया। इसमें दिखाया गया कि वास्तव में दिल्ली से मेरठ तक रैपिड रेल दौड़ती हुई कैसी नजर आएगी। इसकी तैयारी पूरी हो चुकी हैं। अभी तक रैपिड रेल का काल्पनिक लुक दिखाया जाता रहा है।

 एनसीआरटीसी ने ट्रेनों के निर्माण का काम बॉम्बार्डियर इंडिया को दिया है। सभी ट्रेनें बॉम्बार्डियर इंडिया के सावली प्लांट, गुजरात में बनेंगी। बॉम्बार्डियर ने आरआरटीएस ट्रेनों का डिजाइन हैदराबाद फैसिलिटी में तैयार किया है। वहीं शुक्रवार को लोगों को ट्रेन का असली रूप देखने को मिल गया। दिल्ली से मेरठ तक दो स्थानों को बांटकर कार्य किया जा रहा है। 
पहले चरण में साहिबाबाद से दुहाई तक और दूसरे चरण में शताब्दीनगर से दुहाई तक निर्माण कार्य किया जा रहा है। अब तक दुहाई से साहिबाबाद के बीच के प्राथमिक खंड पर वायडक्ट के फाउंडेशन के लिए 2500 से अधिक पाइल, 210 से अधिक पाइल कैप और 100 से ज्यादा पिलर बनकर तैयार हैं। इस खंड पर चार स्टेशन साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर और दुहाई का निर्माण भी जोरों पर है। वायडक्ट के स्पैन के लॉन्चिंग का कार्य भी प्रगति पर है। एनसीआरटीसी ने दुहाई से शताब्दी नगर (मेरठ) के बीच के 33 किमी के हिस्से पर भी निर्माण कार्य शुरू कर दिया है। इसके साथ ही अब 82 किमी लंबे कॉरिडोर के 50 किमी से अधिक के हिस्से पर निर्माण कार्य चल रहा है।

यह भी पढ़ें: किसान कर्फ्यू: हाईवे-एक्सप्रेस-वे सब जाम, हर तरफ फंसे वाहन, तस्वीरों में देखें पश्चिमी यूपी का हाल

रैपिड रेल के प्राथमिकता वाले खंड में एलिवेटेड सेगमेंट का निर्माण वसुंधरा कास्टिंग यार्ड में किया जा रहा है। रैपिड रेल की डिजाइन स्पीड 180 किलोमीटर प्रतिघंटा होगी। इसके मद्देनजर वायडक्ट का निर्माण किया जा रहा है। कास्टिंग यार्ड में निर्माण की गति से सुपर स्ट्रक्चर के निर्माण में तेजी आएगी।