ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
बदमाशों ने नगदी और गहने लूटने के बाद युवक की गला दबाकर हत्या
October 5, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

कानपुर देहात में पुखरायां कस्बे के आंबेडकर नगर से दो अक्तूबर को संदिग्ध हालात में लापता युवक का शव सोमवार की देरशाम जगदीशपुर गांव के पास सेंगुर नदी पुल के नीचे पुलिस ने बरामद किया। पुलिस के मुताबिक, युवक की गला दबाकर हत्या की गई है।

मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने बताया कि बदमाशों ने नगदी और गहने लूटने के लिए हत्या की है। पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम भेजा गया है। पत्नी की तहरीर पर सात लोगों के खिलाफ हत्या व लूट की रिपोर्ट दर्ज की गई है।
पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है। युवक की पत्नी उन्नाव जिले में महिला थाने में सिपाही है। पुखरायां कस्बे के आंबेडकर नगर निवासी युवक सुरेश उर्फ  लाखन (35) शुक्रवार की रात संदिग्ध हालात में लापता हो गया था।
उसके भाई राज प्रताप सिंह ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। परिजनों ने अपहरण की आशंका भी जताई थी। सुरेश उर्फ लाखन घर के प्रथम तल में अकेला रहता था। जबकि उसका परिवार दूसरे तल में रहता था।
घटना में पुलिस की लापरवाही सामने आने पर बीती शनिवार देररात आधा सैकड़ा लोग स्थानीय पुलिस चौकी पहुंच गए थे, इसके बाद पुलिस ने सक्रियता दिखाई। पुलिस ने कस्बे के चार संदिग्धों को पकड़कर पूछताछ शुरू की।

पकड़े गए लोगों से मिले साक्ष्यों के आधार पर सोमवार की देरशाम जगदीशपुर गांव के पास सेंगुर नदी पुल के नीचे लाखन का शव बरामद कर लिया। शव को पत्थर बांधकर नदी में फेंका गया था। इधर, पिता की मौत के बाद इकलौती बेटी वैष्णवी एवं पत्नी शैफाली एवं परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

मृतक की पत्नी शैफाली ने बताया कि सुभाष नगर निवासी प्रदुम्न गुप्त, त्रिवेदी मार्केट निवासी सत्यम सचान, रामस्वरुप नगर निवासी रिषभ, राजेंद्र नगर निवासी राघवेंद्र, गदाईखेड़ा निवासी दीपांशू उर्फ रिषू व अभिषेक उर्फ लकी, वार्ड नंबर-3 निवासी रोहित उर्फ योगेंद्र दोस्त थे।

इनमें से प्रदुम्न, सत्यम, रिषभ, राघवेंद्र का अक्सर आना-जाना होता था। वरिष्ठ उप निरीक्षक दिनेश कुमार यादव ने बताया कि मृतक की पत्नी की तहरीर पर सात लोगों के खिलाफ तहरीर दर्ज की गई है। प्रदुम्न, सत्यम, रिषभ, राघवेंद्र पुलिस हिरासत में हैं।
गहनधरी का धंधा करता था सुरेश
आंबेडकर निवासी सुरेश उर्फ लाखन गहनधरी का धंधा करता था। उसके पास हमेशा नगदी और जेवरात रहते थे। युवक की नानी पूर्व सभासद गिरजादेवी ने बताया कि उनका नाती सुरेश उर्फ लाखन गहनधरी और ब्याज में पैसे का लेनदेन करता था। कमरे में सोने चांदी के आभूषण के अलावा लाखों रुपए की नकदी रहती थी। गले में सवा लाख की चेन हमेशा पहने रहता था। पुलिस ने कमरे का ताला तोड़कर देखा तो सिर्फ उसका लोअर मिला था। जिससे अनहोनी होने का कयास लगाया गया था।

पुलिस ने नहीं दिखाई बरामदगी
पुलिस ने शव तो बरामद कर लिया, लेकिन माल बरामदी मसला नहीं खुला। पकड़े गए संदिग्धों की निशानदेही पर पुलिस ने जगदीशपुर गांव के पास सेंगुर नदी पुल के नीचे सुरेश का शव बरामद कर लिया है, लेकिन घर से गायब जेवरात व नगदी की बरामदगी नहीं दिखाई है। एसपी केशव कुमार चौधरी ने बताया कि कुछ बरामद तो हुआ, लेकिन जांच पूरी होने के बाद खुलासा किया जाएगा।

प्रदेश में जंगलराज कायम-नरेंद्र पाल सिंह
वारदात के बाद समाजवादी पार्टी के विधानसभा क्षेत्र भोगनीपुर के प्रभारी नरेंद्र पाल सिंह मनु ने कहा कि प्रदेश में जंगलराज कायम है। ला एंड आर्डर ध्वस्त है। पुलिस निरंकुश हो गई है। गरीब जनता का शोषण हो रहा है। सरकार के मुखिया को इस्तीफा दे देना चाहिए। प्रदेश में प्रतिदिन लूट व हत्याएं हो रही हैं। जिसके रोकने पर शासन नाकाम है।