ALL दुनिया देश शहर और राज्य उत्तर प्रदेश राजनीति खेल क्रिकेट चुनाव बॉलीवुड ज्योतिष
अमानगढ़ वन रेंज में बाघों की गिनती के लिए वन विभाग 40 ट्रैप कैमरे लगाए
June 8, 2020 • ASHWANI JAISWAL • उत्तर प्रदेश

बिजनौर अमानगढ़ वन रेंज में बाघों की गिनती शुरू हो गई है। बाघों की गिनती के लिए वन में 40 ट्रैप कैमरे लगाए गए हैं। कैमरों में लगातार बाघों के फोटो भी कैद हो रहे हैं। इसके बाद बाघों की गिनती की जाएगी।

अमानगढ़ टाइगर रिजर्व एरिया है। यहां पहले से ही बाघों की दहाड़ गूंजती रही है। जिम कार्बेट से जुड़ा होने के कारण वहां के बाघ भी अमानगढ़ में आते रहते हैं। पिछले साल अमानगढ़ वन रेंज में पहली बार ट्रैप कैमरे लगाकर बाघों की गिनती की गई थी।
ट्रैप कैमरों में कैद हुए बाघों के शरीर पर बनी पट्टियों के आधार पर उनकी पहचान की गई थी। गिनती में अमानगढ़ में 22 बाघ मिले थे। कोई शावक ट्रैप कैमरे में कैद नहीं हुआ था। अब फिर से अमानगढ़ में ट्रैप कैमरे लगाकर बाघों की गिनती शुरू हो गई है।
आमतौर पर बाघ वनों में वन्यजीवों के चलने से बनी पगडंडियों पर ही चलते हैं। इन पगडंडियों व बाघ के मूवमेंट वाले इलाकों में 40 ट्रैप कैमरे लगाए गए हैं। जैसे ही बाघ या कोई भी वन्य जीव इनके सामने से गुजरेगा तो मूवमेंट से ट्रैप कैमरा अपने आप चल जाएगा और सामने आए वन्य जीव की तस्वीर उसमें कैद हो जाएगी।

ट्रैप कैमरों में बाघों के कई फोटो कैद हुए हैं। वन विभाग के कर्मचारियों को जंगल में शावकों के साथ भी बाघिन घूमती हुई दिखी है। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि बाघों की गिनती बढ़ सकती है।

शासन से जारी होगा आंकड़ा
डीएफओ डा.एम सेम्मारन का कहना है कि बाघों की गिनती के लिए ट्रैप कैमरे लगा दिए गए हैं। विश्व बाघ दिवस पर ही बाघों की संख्या का आंकड़ा शासन से जारी होगा।